Home Folk कदी आवोनी रसीला मारे देश | Kinjal Dave | Lyrics

कदी आवोनी रसीला मारे देश | Kinjal Dave | Lyrics

किंजल दवे ने कदी आवोनी रसीला मारे देश गीत में अहम भूमिका निभाई हैं। इस गाने में आवाज किंजल दवे ने दी हैं । राजस्थानी एल्बम गीत के निर्माता मनोज एन है। मारवाड़ी सांग का म्यूजिक मयूर नादिया ने दी हैं और मनु रबारी ने गाने बोल लिखे हैं।

सजनी अपने साजन की याद में गिन गिन के दिन बिता रही हैं और अपने नैनो में बांधकर अपने रसीले बन्ने की बाट जो रही हैं। साजन के परदेश चले जाने पर नहीं कोई चिट्टी सन्देश और नाही उसकी कोई खबर आई हैं। साजन को याद करते हुए सजनी उसे अपने देश वापस बुला रही हैं।

Kadi Aavoni Rasila Mare Desh Song Lyrics

कदी आवोनी रसीला मारे देश
जोवा थारी बाट घणी

काई ने भुला साझा परदेश
थे आवोनी म्हारो उनी संदेश
जोवा थारी बाट घणी
कदी आवोनी रसीला मारे देश
जोवा थारी बाट घणी

Advertisement

गांजो पीवे गजरपति भांग पीवे वो
अमल अरोग्य छत्रपति दारूडु पीवे दातार
जोवा थारी बाट घणी
कदी आवोनी रसीला मारे देश
जोवा थारी बाट घणी

नैन में बंध करके तमने जोया छै
कदी आवोनी रसीला मारे देश
जोवा थारी बाट घणी

ओ आवन जावन कह गयो
गिनता गिनता घीस गयी म्हारा आंगणिया री रेत
कदी आवोनी रसीला मारे देश
जोवा थारी बाट घणी

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित हो राष्ट्र हो हमारा |
स्वच्छ हो देश हमारा ||