Home Bhajan मोची बन छलबा आयो रे | Birbal Singh Saiwar | Lyrics

मोची बन छलबा आयो रे | Birbal Singh Saiwar | Lyrics

बीरबल सिंह की आवाज में मोची बन छलबा आयो रे शिव जी का राजस्थानी भजन हैं। इस गीत के निर्माता गोपाल सैनी व निर्देशक बाबूलाल सैनी हैं। मारवाड़ी एल्बम का सॉन्ग अल्फ़ा म्यूजिक एंड फिल्म्स की ओर से प्रस्तुत हुआ हैं।

शिव शंकर भोलेनाथ मोची का रूप धारण करके हिमाचल में पार्वती की नगरी में जा रहे हैं और वहा जाकर अपनी मूंछो पर बल देते हुए वहां के नगरवासियो को आवाज लगा रहे हैं। भोलेनाथ मन ही मन प्रसन्न हो रहे हैं और अपनी जूतीइयो का दाम बता रहे हैं लेकिन उनका दाम इतना ज्यादा हैं की कोई भी उन्हें नहीं खरीद सकता हैं।

Mochi Ban Chalba Aayo Song Lyrics

मोची बन छलबा आयो रे शिव शंकर भोलोनाथ
शंकर भोलोनाथ शिव शंकर भोलोनाथ
मोची बन छलबा

मोची को रूप बनायो राजा हिमाचल के आयो
भोलो मनडा में हर्षायो नगरी में डेरो लगायो
जद माया ने फेलायो रे मूंछ्या पर फेरे हाथ
मोची बन

Advertisement

जोरा आवाज़ लगायो, सब सुंलयो लोग लुगायो
जूट्या को मोले बतायो, सुन सबको दिल घबरायो
हीरा पन्ना सू जड़वायो रे थाने सांची कहेरयू बात
मोची बन

जद पार्वती खुद आगी, जूत्यां ने निरखण लागी
सुन मोल घनो शर्मागी तेरी जुत्ती मंन में भागी
मेरे चोट कालज़े लागी रे चलूंगी तेरी साथ
मोची बन

बीरबल सिंह महिमा गावे अल्फ़ा कैसेट्स मंन भावे
भोलो असली रूप दिखावे जद पार्वती घबरावे
भोलो मंन ही मंन मुस्कावे गोरा को धुजे गात
मोची बन छलबा

अन्य राजस्थानी गाने :

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना |
स्वच्छता को होगा अपनाना ||