Home Bhajan साँचो प्रगट्यो | Raju Mewadi | Lyrics

साँचो प्रगट्यो | Raju Mewadi | Lyrics

साँचो प्रगट्यो राजस्थानी DJ Mix गाने में आवाज सुरीले सिंगर ने दी हैं । राजस्थानी एल्बम ‘जानू-जानू मैं करूं’ के गीत का म्यूजिक राजू मेवाड़ी ने कंपोज किया हैं और गाने के बोल मंगल सिंह की कलम से लिखे गए हैं । अंशुमन आर झा निर्देशित गीत देव म्यूजिक में प्रस्तुत हुआ हैं ।

Song: Sancho Pargatiyo
Album: Janu Janu Main Karu
Music: Raju Mewadi
Lyrics: Mangal Singh
Director: Anshuman R Jha
Music Label: Dev Music

Click to watch Sancho Pargatiyo Rajasthani song from album Janu Janu Main Karu NOW in full HD.

Video Thumbnail

Rajasthani Song 2017 – Sancho Pargatiyo | FULL Video | Dev Music | Marwadi DJ Mix Song | 1080p HD

Advertisement

अन्य राजस्थानी गाने भी देखे :

Sancho Pargatiyo Song Lyrics

सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो
नारायण स्वामी जी नारायण स्वामी जी
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो

पुष्कर माही लागी समाधि घाना यात्री आवे हो
शंकर पूरीधि करे आरती मंगल गावे हो
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो

भजन भाव और हरी कीर्तन बराव महीना चाले हो
सातु गुरु दीन दयाल सभी का दुखड़ा तले हो
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो

सुख शांति होवे जो कोई भी थाको ध्यान लगावे हो
मंन चहावे धन पावे उ सांवर मल गावे हो
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो
नारायण स्वामी जी नारायण स्वामी जी
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो

पुष्कर माही लागी समाधि घाना यात्री आवे हो
शंकर पूरीधि करे आरती मंगल गावे हो
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो

भजन भाव और हरी कीर्तन बराव महीना चाले हो
सातु गुरु दीन दयाल सभी का दुखड़ा तले हो
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो

सुख शांति होवे जो कोई भी थाको ध्यान लगावे हो
मंन चहावे धन पावे उ सांवर मल गावे हो
सांचो पर्गटीयो पुष्कर में निर्भे
नारायण स्वामी जी सांचो पर्गटीयो

लेटेस्ट राजस्थानी गानो को देखने के लिए हमेशा याद रखे Marwadisong.in |

विकसित राष्ट्र की हो कल्पना |
स्वच्छता को होगा अपनाना ||