Home Folk ब्यायण ढोल्यो ढालियो | Rani Rangili, Kunwar Mahendra Singh | Lyrics

ब्यायण ढोल्यो ढालियो | Rani Rangili, Kunwar Mahendra Singh | Lyrics

राणी रंगीली कुंवर मेहन्द्र सिंह ने ब्यायण ढोल्यो ढालियो गीत में अहम् भूमिका निभाई हैं। इस गाने में आवाज राणी रंगीली ने दी हैं। राजस्थानी एल्बम गीत की निर्मात्री राणी रंगीली और गीत का निर्देशन भी स्वंय ने किया हैं। मारवाड़ी सांग राणी म्यूजिकल ग्रुप की नयी प्रस्तुति हैं ।

नखरे वाली ब्यान ब्याई के भीलवाड़ा शहर में जाने पर वहा से नथड़ी लेकर आने की इच्छा जता रही हैं। विजयनगर शहर से कंदोरा लेकर आने को बोल रही हैं और उसके ऊपर मोर की डिजायन बनवा रही हैं। ब्याई गौरी की सारी इच्छा पूरी करते हुये अपनी मन पसंद की चुडिया जोधाणा से गौरी के गोरे गोरे हाथो के लिए लेकर जा रहा हैं उन्हें पहन पर चुडिया खन खन आवाज कर रही हैं।

Byayan Dholyo Dhaliyo Song Lyrics

ऊँचा ऊँचा रे टीबा ऊपर ब्यायण ढोल्यो ढालियो
ढोल्या पर गुड़तो ब्याई किला ऊपर आजे रे
ठंडो रे बाजे बायरो तने गहरी रे निंदा सुलाऊ रे

विजयनगर तो जावो तो ब्याई कंदोरो घड़ा जो रे
कंदोरा के चटका ऊपर हरियो मोर मंडाजो रे
मैं नागण नखराली ब्याई नागण जु बल खाऊ रे

Advertisement

भीलवाडे जावे तो ब्याई नथड़ी रे म्हारे ल्याजो रे
नथड़ी ल्यावे तो ब्याई रखड़ी रे म्हारे ल्याजे रे
गौरा रे गौरा गाल म्हारा हरियो मोर मंडा जे रे

जोधाणा जावो तो ब्याई चुडलो रे म्हारे ल्याजे रे
चुडला ऊपर ब्याई म्हारा काला कांच लगवाजे रे
काला रे काला कांच ऊपर म्हारो मनड़ो मोह्यो रे

अन्य राजस्थानी गाने :

गांधीजी के सपने को कीजिए साकार |
स्वच्छता हो देश मे आपार ||