Home Folk लागी फागण की फटकार | Rashid Rathi | Lyrics

लागी फागण की फटकार | Rashid Rathi | Lyrics

लेटेस्ट राजस्थानी फागुन गीत लागी फागण की फटकार में आवाज रशीद राठी ने दी हैं व गाने का म्यूजिक ए.बी ब्रॉस ने कंपोज किया हैं । राजस्थानी एल्बम का सॉन्ग पी.आर.जी म्यूजिक एंड फिल्म् की ओर से प्रस्तुत किया गया हैं। गीत के प्यारे से बोल रशीद राठी ने लिखे है। इस गीत के निर्देशक व निर्माता सज्जन सिंह गहलोत हैं ।

रंग रंगीला फागुन का महीना आने पर गौरी तारो वाली चुनरी ओढ़के अपने पिया के पास जा रही हैं। तारो से जड़ी हुई चुनरी सूरज की तेज किरण से चम चम चमक रही हैं और गौरी अपने पिया के लाड लड़ा रही हैं। ये चुनरी बलम पाली वाले बाजार से लेकर आया हैं और अब गौरी को साथ में लेकर सोजत वाले शहर जा रहा हैं। मेहंदी से रचे हुये गौरी के हाथ पिया को प्यारे लग रहे हैं।

Lagi Fagan Ri Fatkar Song Lyrics

जानू हलवे हलवे चाल घूँघट तारा सु चमके
लागी फागण की फटकार रम की बोतल मैं ल्याउ
म्हारी भोली दिलबर जान थासु प्यार करू

म्हारे काळजिये री कौर तने लाड सु मैं लडाऊ
मूंगा मोल रो फागणियो पाली शहर सु मैं ल्याउ
जानू हलवे हलवे चाल घूँघट तारा सु चमके
लागी फागण की फटकार रम की बोतल मैं ल्याउ
म्हारी भोली दिलबर जान थासु प्यार करू

Advertisement

चालो सोजत की बजारा तने सैर मैं कराऊ
थारा हाथा वाली मेहंदी ले पान सु मंडाउ
जानू हलवे हलवे चाल घूँघट तारा सु चमके
लागी फागण की फटकार रम की बोतल मैं ल्याउ
म्हारी भोली दिलबर जान थासु प्यार करू

सुख राठी की पुकार फागण झूम के गाउ
प्यारो खुशबू रो गुलाल थारा गाल पे लगाउ
जानू हलवे हलवे चाल घूँघट तारा सु चमके
लागी फागण की फटकार रम की बोतल मैं ल्याउ
म्हारी भोली दिलबर जान थासु प्यार करू

अन्य राजस्थानी गाने :

भारत सरकार का इरादा |
सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा ||